चारधाम यात्रा में क्यूआर कोड स्कैन कर अपनी भाषा में पढ़ें स्वास्थ्य संबंधी एडवाइजरी, 11 भाषाओँ में उपलब्ध कराई गई है जानकारी।

0
21

चमोली – यदि आप चारधाम यात्रा पर आने की तैयारी कर रहे हैं तो यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जगह-जगह साइन बोर्ड स्थापित किए हैं। इन पर लगे क्यूआर कोड को स्कैन करते ही स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हासिल कर सकते हैं। तीर्थयात्रियों को भाषा संबंधी समस्या भी नहीं आएगी। क्योंकि क्यूआर कोड में भारत की 11 भाषाओं में स्वास्थ्य संबंधी जानकारी उपलब्ध कराई गई है।

इसमें कहां-कहां पर सरकारी अस्पाताल हैं और यहां क्या सुविधाएं मिल सकेंगी, इसकी भी पूरी जानकारी दी गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव शर्मा ने बताया कि यह क्यूआर कोड तीर्थयात्री के लिए मजबूत परामर्शदाता का काम करेगा। बदरीनाथ यात्रा मार्ग पर इन दिनों स्वास्थ्य विभाग की ओर से क्यूआर कोड लगे साइन बोर्ड स्थापित किए जा रहे हैं।

क्यूआर कोड को अपने मोबाइल फोन में स्कैन करने के बाद स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हासिल की जा सकती है। तीर्थयात्रियों को इसके माध्यम से सभी स्वास्थ्य संबंधी सूचनाएं भी मोबाइल फोन पर ही उपलब्ध हो जाएंगी। क्यूआर कोड में तमिल, बांगला, मलियालम, गुजराती, पंजाबी सहित देश के 11 राज्यों की भाषाओं में स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी उपलब्ध कराई गई है। सीएमओ डॉ. राजीव शर्मा ने बताया कि क्यूआर कोड से तीर्थयात्रियों को स्वास्थ्य संबंधी सभी जानकारी हासिल करने में आसानी होगी।

रोटेशन पर मिले 28 डॉक्टर

चमोली स्वास्थ्य विभाग को यात्रा पड़ावों से लेकर बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब में स्वास्थ्य सेवाओं के संचालन के लिए रोटेशन पर 28 डॉक्टर मिले हैं। इन चिकित्सकों की 15-15 दिन के लिए रोटेशन पर अस्पतालों में तैनाती की जाएगी। बदरीनाथ धाम, जोशीमठ, घांघरिया और गोविंदघाट में फिजिशियन की तैनाती की जाएगी। इन चिकित्सकों को कॉर्डियोलॉजिस्ट का प्रशिक्षण भी दिया गया है, जिससे वे ह्दय रोगियों का इलाज भी कर सकेंगे। सीएमओ डॉ. राजीव शर्मा ने बताया कि बदरीनाथ धाम में स्वास्थ्य केंद्र का संचालन शुरू कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here